Followers

Monday, December 17, 2012

मेरे घर का पता


मुझसे 
मेरे घर का पता पूछते हो ?
मोहब्बत  जहाँ लिखा हो उस  
घर में हम रहते हैं 
खुशबू  हो इंसानियत की जहाँ 
उस दिल में हम 
बसते हैं..........

Mujhse mere fgar ka pata puchhte ho 
Mohabbat jahan likha ho us 
Ghar me hm rahte hain 
Khushboo ho insaniyat ki jahan
us dil me hm baste hain...

2 comments:

  1. बहुत सुन्दर भाव...

    (अगर आप वर्ड वेरिफिकेशन हटा दें तो टिप्पणी देने में सुविधा रहेगी.)

    ReplyDelete
    Replies
    1. word verification kya hua kailash..?? mai nhi samajh payi..thanx...

      Delete