Followers

Monday, July 8, 2013

दिल से दिल बात होती है

यहाँ  दिल से दिल  बात होती है 
अनछुए अनजाने भावों की सौगात होती है 
दूरियां नही नजदीकियां नही 
बस  दिल से दिल तक पहुँचने की आवाज है 
न उम्र की सीमा है 
न रिश्तों की दीवार है 
न मिलने की , ना मिलने की कोई बात है 
ये तो बस  दिल से दिल  की  बात है 
यहाँ दिल मिलते हैं आदमी नही 
शब्द मिलते हैं तन्हाइयाँ  नही 
शब्द ब्रह्म है 
ये ब्रह्म से ब्रह्म तक पहुँचने का अद्भुद 
अंदाज़ है ...
हम हैं- आप हैं - दोस्ती का आगाज़ है ........


No comments:

Post a Comment