Followers

Friday, June 21, 2013

SHIMLA..

प्रकृति का संगीत सुनाती एक ख़ामोशी 
जिसकी धुन पर मन की मीरा बावरी हो 
उठी जैसे अपने सांवरिया के लिए ........

No comments:

Post a Comment